राष्ट्रीय विद्युत प्रशिक्षण संस्थान

Printer-friendly version
राष्ट्रीय विद्युत प्रशिक्षण संस्थान (एनपीटीआई)
वेबसाइट  http://www.npti.in

 

नेशनल पावर ट्रेनिंग इंस्टीच्यूट (एनपीटीआई), जो कि विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार के अंतर्गत एक आईएसओ 9001 और आईएसओ 14001 संगठन है, विद्युत क्षेत्र में प्रशिक्षण एवं मानव संसाधन विकास के लिए एक राष्ट्रीय सर्वोच्च निकाय है, जिसका निगम कार्यालय फरीदाबाद में है। एनपीटीआई 4 दशक से भी अधिक समय से अपनी समर्पित सेवा दे रहा है।

एनपीटीआई 382 कार्मिकों, जिनमें से 131 वर्ग 'क' और 'ख' के अधिकारी और 251 अन्य कार्मिक हैं, की अपनी श्रम शक्ति के साथ देश के विभिन्न जोनों में अपने 9 संस्थानों के माध्यम से अखिल भारतीय आधार पर प्रचालन करता है, जिसका ब्योरा निम्नवत है:

क. उत्तरी क्षेत्र

i. एनपीटीआई निगम कार्यालय, फरीदाबाद
ii. एनपीटीआई (उत्तरी क्षेत्र), बदरपुर
iii. एनपीटीआई (जल विद्युत प्रशिक्षण केंद्र), नांगल

ख. दक्षिणी क्षेत्र

i. एनपीटीआई (विद्युत प्रणाली प्रशिक्षण संस्थान), बैंगलोर
ii. एनपीटीआई (हाट लाइन प्रशिक्षण केंद्र), बैंगलोर
iii. एनपीटीआई (दक्षिणी क्षेत्र), नेवली

ग. पूर्वी और उत्तर-पूर्वी क्षेत्र

i. एनपीटीआई (उत्तर-पूर्वी क्षेत्र), दुर्गापुर
ii. एनपीटीआई (पूर्वी क्षेत्र), गुवाहाटी

घ. पश्चिमी क्षेत्र

i. एनपीटीआई (पश्चिमी क्षेत्र), नागपुर

विद्युत प्रशिक्षण सिमुलेटर

एनपीटीआई के विभिन्न संस्थान थर्मल, हाइड्रो, पारेषण एवं वितरण प्रणालियों और भारतीय विद्युत क्षेत्र तथा अन्य विद्युत क्षेत्रों के ऊर्जा से संबंधित क्षेत्रों को शामिल करते हुए तकनीकी तथा प्रबंधन विषयों पर विभिन्न पाठ्यक्रमों के संचालन के लिए उच्च तकनीकी अवसंरचनात्मक सुविधाओं से सुसज्जित हैं। इसके पास देश में प्रचालन कार्मिकों को विशेषीकृत व्यवस्था प्रदान करने के लिए फरीदाबाद संस्थान में 500 मेगावाट ताप विद्युत प्रशिक्षण सिमुलेटर और नागपुर संस्थान में 210 मेगावाट ताप विद्युत प्रशिक्षण सिमुलेटर हैं। इसके साथ-साथ 430 मेगावाट (2*143 मेगावाट गैस टरबाइन और 1*444 मेगावाट स्ट्रीम टरबाइन) भी हैं। एक फुलस्कोप वाला संयुक्त साइकल गैस टरबाइन रिपलीका सिमुलेटर एनपीटीआई निगम कार्यालय, फरीदाबाद में शुरू किया गया है। राष्ट्रीय ग्रिड के लिए हाई फीटिलिटी भार डिस्पैच प्रचालक सिमुलेअर पीएसटीआई, बैंगलोर में शीघ्र ही संस्थापित किया जाएगा।

जनशक्ति प्रशिक्षण एवं शैक्षिक कार्यक्रम

एनपीटीआई के विभिन्न संस्थानों में थर्मल, हाइड्रो, पारेषण एवं वितरण और प्रबंधन विनियामक, मामले आदि के क्षेत्रों में विभिन्न दीर्घावधि, मध्यम अवधि और लघु अवधि प्रशिक्षण कार्यक्रमों का संचालन किया जा रहा है। विभिन्न विद्युत यूटिलिटियों के लिए कस्टमकृत प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन भी संपूर्ण वर्ष के दौरान किया जाता है। एनपीटीआई सन 1981 में संशोधित भारतीय विद्युत नियम, 1956 के नियम 3, उप नियम 2ए के अतर्गत भारतीय विद्युत उद्योग के संचालन के लिए भली प्रकार से प्रशिक्षित कार्मिकों की उपलबधता को सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रमों का संचालन भी करता है।

एनपीटीआई स्टील, सीमेंट, एल्युमिनियम, खाद, रिफाइनरी अर्थात् बीबीएमबी, भेल, सीईए, डीपीएल, डीवीसी, ईसीआईएल, एफएसीटी, गेल, इफ्को, आईओसीएल, आईआरईडीए, कृभको, नाल्को, नीपको, एनएफएल, एनएचपीसी, एनएलसी, एनपीसी, एनटीपीसी, पावरग्रिड, सेल, टीएचडीसी, एपजेनको, सीईएससी, एचपीजीसीएल, केपीसीएल, एमपीईबी, ओएचपीसी, ओपीजीसीएल, आरआरयूवीएनएल, यूपीआरवीयूएन, एसीसी, एईसीओ, बीएसईएस, हिंडाल्को आदि जैसे प्रसंस्करण उद्योगों की प्रशिक्षण आवश्यकताओं को भी पूरा कर रहा है।

एनपीटीआई भारतीय विद्युत क्षेत्र को चलाने के लिए उपर्युक्त दक्षताओं से सुसज्जित प्रतिबद्ध और सक्षम पेशवरों के पूल के सृजन के उद्देश्यहेतु निम्नलिखित उद्योग इंटरफेस शैक्षिक कार्यक्रमों का संचालन भी करता है:

  • एआईसीटीई द्वारा अनुमोदित विद्युत प्रबंधन में दो वर्षीय एमबीए
  • एआईसीटीई द्वारा अनुमोदित विद्युत इंजीनियरी में चार वर्षीय बीटेक/बीई डिग्री
  • थर्मल पावर प्लांट इंजीनियरी में एक वर्षीय स्नातकोत्तर डिप्लोमा पाठ्यक्रम
  • थर्मल पावर प्लांट इंजीनियरी में एक वर्षीय डिप्लोमा पाठ्यक्रम
  • जीआईएस और रिमोट सेंसिंग (आरएस) में एक वर्षीय स्नातकोत्तर डिप्लोमा
  • हाइड्रो पावर प्लांट इंजीनियरी में नौ माह का स्नातकोत्तर डिप्लोमा पाठ्यक्रम
  • अभियंताओं के लिए पारेषण एवं वितरण प्रणाली का छ: माह परिचालन एवं अनुरक्षण

 

अंतर्राष्ट्रीय प्रशिक्षण

ओमान, बंगलादेश, कंबोडिया, भूटान, इथियोपिया, इराक, केन्या, मलेशिया, मेक्सिको, म्यांमार, नेपाल, नाइजीरिया, अफगानिस्तान, फिलिपिंस, सूडान, सीरिया, जांबिया, जेडईएसए, जिम्बावे आदि जैसे विभिन्न देशों के पेशेवरों ने एनपीटीआई के विभिन्न प्रशिक्षण संस्थानों में प्रशिक्षण भी लिया है।

जीआईएस

एनपीटीआई, कारपोरेट कार्यालय, फरीदाबाद में एक भौगोलिक सूचना प्रणाली (जीआईएस) संसाधन केंद्र की स्थापना की गई है। केंद्र विद्युत क्षेत्र की मांगों को पूरा करने के लिए जीआईएस और रिमोट सेंसिंग में स्नातकोत्तर डिप्लोमा पाठ्यक्रम भी आयोजित कर रहा है।
 

हाट लाइन प्रशिक्षण केंद्र

400 केवी तक की पारेषण लाइनों के लिए लाइन अनुरक्षण के लिए एनपीटीआई के हाट लाइन प्रशिक्षण केंद्र, बैंगलोर में एक सुविधा (जोकि एशिया में अपने आप में पहली है) का सृजन किया गया है जो कि प्रशिक्षित कार्मिकों को विद्युत अवरोधों के बिना अनुरक्षण मांगों को पूरा करने में सक्षम बनाती है। सब-स्टेशन उपस्करों की वाटर वाशिंग के लिए सुविधाएं भी उपलब्ध हैं।

परामर्श सेवाएं

उद्योग की आवश्यकताओं को पूरा करने और अवसंरचना और विशेषज्ञता का बेहतर उपयोग करने के लिए, एनपीटीआई ने आर-एपीडीआरपी (11वीं योजना) के अंतर्गत डीपीआर की तैयारी में परामर्श सेवाएं प्रदान करने के लिए वेंचर किया है और एनपीटीआई को 6 राज्यों के लिए 11वीं योजना के अंतर्गत आरजीजीवीवाई कार्यों की टायर-II जांच के लिए आरईसी गुणवत्ता मॉनिटर (आरक्यूएम) के रूप में भी नियुक्त किया गया है। एनपीटीआई को 10वीं योजना और 11वीं योजना के अंतर्गत आरजीजीवीवाई कार्यों के लिए कुछ डिस्कॉमों द्वारा तृतीय पक्ष जांच एजेंसी (टीपीआईए) कार्य भी सौंपे गए हैं।

एनपीटीआई प्रशिक्षण आवश्यकता विश्लेषण, प्रशिक्षण सुविधाओं का उन्नयन, कस्टमकृत कोर्स डिजाइन, क्षमता मूल्यांकन/प्रोत्साहन के लिए मूल्यांकन आदि सहित मानव संसाधन विकास के क्षेत्र में परामर्श भी प्रदान करती है।

एनपीटीआई प्रकाशन और मल्टीमीडिया सीबीटी

एनपीटीआई ने विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए लगभग 75 प्रशिक्षण मैन्युअल प्रकाशित किए हैं। एनपीटीआई ने विद्युत पेशेवरों के लिए 55 से अधिक मल्टीमीडिया कंप्यूटर आधारित प्रशिक्षण पैकेज का विकास भी किया है और इन्हें यूटिलिटियों और शैक्षिक संस्थानों को उचित कीमतों पर बेचा भी गया है।

उपलब्धियाँ और निष्पादन

सन् 1965 में अपने प्रथम संस्थान के शुरू होने के समय से, एनपीटीआई ने अब तक केंद्रीय पीएसयू, एसईबी, विद्युत यूटिलिटियों और निजी क्षेत्र संगठनों से 1,65,000 से अधिक कार्मिकों को प्रशिक्षण प्रदान किया है। लगभग 9,100 प्रचालन इंजीनियरों को एनपीटीआई के पास उपलब्ध सिमुलेटरों पर प्रभावी एकीकृत यूनिट प्रचालन प्रशिक्षण प्रदान किया है।

प्लेसमेंट

विद्युत प्रबंधन में एनपीटीआई का एमबीए विद्यार्थी और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम और स्नातकोत्तर डिप्लोमा पाठ्यक्रम के बीटेक विद्युत अभियांत्रिकी विद्यार्थियों को सीआरआईसीआईएल, केयर, बीएसईएस, केपीएमटी, आरईएल, मोजर बेयर, लैंको, जीएमआर, फीडबैक वेंचर, सुजलन, टाटा पावर, टोरेंट पावर, प्राइस वाटर हाउस कूपर, डिलोइट आदि जैसी विख्यात कंपनियों में रोजगार प्राप्त हो रहा है।

अधिक ब्योरे के लिए कृपया (http://www.npti.in) साईट सर्फ करें।