विद्युत कॉल सेंटर

Printer-friendly version

सकारात्म‍क आधार पर विद्युत आपूर्ति संबंधी शिकायतों का समाधान करने और ग्राहकों को प्रभावी, सुनिश्चित और समय पर सेवाएं प्रदान करने के लिए अनेक विद्युत वितरण कंपनियों और राज्य  विद्युत बोर्डों ने विद्युत कॉल सेंटर स्थावपित किए हैं । ये कॉल सेंटर कई माध्यनमों यथा- टेलीफोन, फैक्सद, ई-मेल आदि के माध्यरम से ग्राहकों की शिकायतें प्राप्तर करने के लिए 24 घंटे कार्य करते हैं । विद्युत आपूर्ति संबंधी शिकायतों को दूर करने के लिए विद्युत कॉल सेंटरों को विशेष रूप से टेलीफोन नं0 1912 आवंटित किया गया है ।

ग्राहकों की शिकायतें पंजीकृत की जाती हैं और समय पर कार्रवाई तथा सुधार के लिए फील्डक कार्मिकों को भेजी जाती हैं । शिकायतों के स्तईर का समय-समय पर पता लगाया जाता है ! ग्राहक कॉल सेंटर के कार्मिकों से संपर्क कर पंजीकृत शिकायतों का स्त र जान सकते हैं । यदि शिकायत एक निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत दूर नहीं की जाती है तो शिकायत को समाधान प्रक्रिया शीघ्र  पूरी करने के लिए उच्चेतर अधिकारियों की जानकारी में लाई जाती है ।

विद्युत कॉल सेंटरों का प्रबंधन विशेष रूप से तैयार किए गए सॉफ्टवेयर साल्यूोशनों के माध्युम से किया जाता है जो कि प्रचालनों की रीड़ की हड्डी है । लगाया गया सॉफ्टवेयर तकनीकी रूप से उन्नहत सॉफ्टवेयर से साधारण साल्यूैशनों के रूप में अलग-अलग हो सकते हैं । यह साफ्टवेयर में सामान्य्त: कांटेक्टय मेंनेजमेंट साल्यूजशन और/अथवा प्रोसेस मॉनीटरिंग सॉल्यूयशन होता है । इन कॉल सेंटरों का प्रबंधन या तो युटीलिटी के कार्मिकों द्वारा अथवा तीसरे पक्षकार से बाहर से लिए गए कार्मिकों द्वारा किया जाता है ।

विद्युत कॉल सेंटर तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक राज्योंि में कार्यान्वित किए गए हैं। राजस्था न, दिल्लीप, मध्य‍ प्रदेश आदि जैसे राज्योंट में ये कॉल सेंटर कार्यान्व यन के विभिन्न  चरणों में हैं । इन कॉल सेंटरों की सहायता से वितरण युटिलिटियां अपने संबंधित राज्यस विद्युत विनियामक आयोगों द्वारा परिभाषित कठोर सेवा स्तिरों के अनुरूप होने में सक्षम हुई हैं ।