सीपीआरआई

Printer-friendly version

केंद्रीय विद्युत अनुसंधान संस्थान (सीपीआरआई)


अतिरिक्त ब्योरे के लिए कृपया साईट http://cpri.in सर्फ करें।

केन्द्रीय विद्युत अनुसंधान संस्थान (सीपीआरआई), भारत सरकार द्वारा 1960 में स्थापित किया गया। यह वैद्युत उपकरण के लिए एक स्वतंत्र राष्ट्रीय परीक्षण एवं प्रमाणीकरण प्राधिकरण के रूप में कार्य करने के साथ साथ वैद्युत इंजीनियरी में अनुप्रयुक्त अनुसंधान संपन्न करनेवाला एक प्रधान संगठन है। वर्ष 1978 में विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार के संरक्षण में यह स्वायत्त सोसाइटी बना । विद्युत क्षेत्र के लिएसंस्थान ने पाँच दशकों से भी अधिक वर्षों से अपनी सेवाएँ प्रदान की हैं। 

सीपीआरआई के क्रियाकलाप:
 
ए)  वैद्युत शक्ति इंजीनियरी में अनुप्रयुक्त अनुसंधान 
बी)  वैद्युत उपकरण का परीक्षण एवं प्रमाणीकरण
सी)  वैद्युत उपयोगिताओं एवं उद्योग के लिए परामर्श एवं क्षेत्र परीक्षण सेवाएँ 
डी)  तृतीय पार्टी निरीक्षण एवं विक्रेता विश्लेषण 
ई)  उपयोगिताओं एवं उद्योगों के लिए अनुकूल प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन
 
संस्थान का प्रधान कार्यालय बेंगलूर में है तथा इसके एकक भोपाल, हैदराबाद, नागपुर, नोएडा, कोलकाता एवं गुवाहाटी में स्थित हैं। भोपाल एकक में परिणामित्रों एवं स्विचगियरों के परीक्षण के लिए विशिष्ट सुविधाएँ हैं। हैदराबाद स्थित एकक अति उच्च वोल्टता अनुसंधान व मूल्यांकन पर केंद्रित है जबकि नागपुर स्थित एकक ताप शक्ति क्षेत्र द्वारा पाई गई समस्याओं के समाधान के लिए परामर्श प्रदान करता है। नोएडा स्थित एकक में निम्न एवं मध्यम वोल्टता उपकरण के परीक्षण की सुविधाएँ हैं तथा उत्तरी क्षेत्र की आवश्यकता को पूरा करता है । कोलकाता एवं गुवाहाटी के एककों में परिणामित्र तेल के परीक्षण के लिए सुविधाएँ उपलब्ध हैं 
 
प्रत्यायन: 
  • आईएसओ/आईईसी  17025 :  2005  परीक्षण एवं अंशांकन प्रयोगशालाओं का राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड (एनएबीएल) द्वारा प्रत्यायित – अंतर्राष्ट्रीय प्रयोगशाला प्रत्यायन सहयोजन (आईएलएसी) तथा एशिया पेसिफिक प्रयोगशाला प्रत्यायन सहयोजन (एपीएलएसी) जैसे अंतर्राष्ट्रीय निकायों को अनुमार्गणीय 
  • भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस)
  • इंटरटेक – आस्टा, ब्रिटेन
  • अनुसंधान एवं परामर्श क्रियाकलापों के लिए आईएसओ 9001 प्रमाणीकरण 
 
प्रत्यय पत्र
 
  • लघु परिपथ परीक्षण संपर्क (एसटीएल) का सदस्य
  • डीएलएमएस  यूए का निगमित सदस्य  (डिवाइस लैंगवेज मेसेज स्पेसिफिकेशन यूज़र एसोसिएशन) एवं यूसीए  आईयूजी ( युटिलिटी कम्यूनिकेशन आर्किटेक्चर इंटरनेशनल यूज़र ग्रुप)
  • परिणामित्रों पर ब्रेजिल ऊर्जा लेबलन कार्यक्रम के लिए तृतीय पार्टी परीक्षण प्रयोगशाला के रूप में इनमेट्रो, ब्रेजिल द्वारा अनुमोदित 
  • इलेक्ट्रिसिटी वाटर एथारिटी (ई डब्ल्यू ए) द्वारा अनुमोदित, बहरैन राज्य – स्वतंत्र परीक्षण एवं प्रमाणीकरण निकाय के रूप में विद्युत वितरण निदेशालय (ईडीडी)
  • एल वी उपकरण के परीक्षण के लिए अंडरराइटर्स लैबोरेटरीज़ (यू एल) के साथ साहचर्य
  • परीक्षण एवं प्रमाणीकरण के लिए टीयूवी रीनलैण्ड इंडिया प्रा. लि के साथ साहचर्य
 
अनुसंधान व विकास 
 
सीपीआरआई विद्युत क्षेत्र में प्रौद्योगिकी विकास के लिए अनुप्रयुक्त अनुसंधान को बढ़ावा देता है। अद्यतन संविरचना के साथ सीपीआरआई उपभोक्ताओं को सस्ती लागत पर विश्वसनीय, निरंतर, सुरक्षित और गुणवत्ता बिजली की आपूर्ति के लिए विद्युत उपयोगिताओं को सहायता देने के प्रयास में वैद्युत शक्ति जनन, पारेषण और वितरण के क्षेत्र में अनुसंधान व विकास संपन्न कर रहा है। अनुसंधान व विकास संस्थाओं, उद्योग और अकादमियों के बीच सहयोगात्मक अनुसंधान के लिए एक अनुकूल वातावरण बनाने के उद्देश्य से सहयोगात्मक एवं उन्नत अनुसंधान केंद्र (सीकार) की स्थापना की गई है।
 
2500MVA Short Circuit Generator                2500 एमवीए लघु परिपथ जनित्र                                                              2.4 एमवी, 240 केजे आवेग जनित्र  
                                                         
    
                 100 के वी, 300 के जे आवेग धारा जनित्रसौर प्रकाश                                       उत्पाद परीक्षण  
    
                          ऊर्जा मीटर परीक्षण                                                                              टावर परीक्षण  

 

 
सीपीआरआई के विभिन्न अनु व वि योजनाएँ हैं –
 
  • आंतरिक अनु व वि (आईएचआरडी)
  • विद्युत की अनुसंधान योजनाएँ (आरएसओपी) 
  • राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य योजना के तहत अनुसंधान परियोजना (एनपीपी)
 
सीपीआरआई मानव संसाधन विकास मंत्रालय के तहत उच्चतर आविष्कार योजना (यूएवाई) और अनुसंधान नव प्रवर्तन प्रौद्योगिकी को प्रभावित करना (इमप्रिन्ट) का समन्वय और निगरानी भी करता है। 
 

परीक्षण और मूल्यांकन:

सीपीआरआई ने एक छत के नीचे  जनित्र , पारेषण तथा वितरण को शामिल करते हुए विद्युत क्षेत्र द्वारा सभी  आवश्यक सेवाओं को पूरा करने की सुविज्ञता  विकसित की है । सीपीआरआई 800 किवो / 1200कि वो प्रणाली  में ईएचवी / यूएचवी उपकरणों के मूल्यांकन के लिए अद्वितीय सुविधाओं से लैस है । 
निम्न के लिए परीक्षण सुविधाओं का सृजन किया गया है :
• परिणामित्र / स्विचगियर का उच्च शक्ति लघु परिपथ परीक्षण 
•पारेषण लाइन टॉवर और सहायक उपकरण
•शक्ति केबिल
•संधारित्र
•सी आर जी ओ सहित सामग्री अभिलक्षण
•विद्युतरोधन तथा तडन निरोधक
•कंपन अध्ययन
•रिले, ऊर्जा मीटरन तथा स्मार्ट मीटर
•प्रशीतित्र तथा वातानुकूलक
•एल ई डी तथा एस पी वी प्रकाशन प्रणाली सहित घरेलू उपकरण

संस्थान में विद्युत उपस्कर के लिए भूकंप अर्हता, विद्युत प्रणाली अध्ययन के लिए वास्तविक काल अंकीय अनुकार तथा विद्युत प्रणाली स्वचालन के लिए संचार प्रोटोकॉल के लिए सुविज्ञताहै ।

परामर्श सेवाएँ :

सीपीआरआई निम्नलिखित क्षेत्रों में परामर्श प्रदान करता है:
• एच वी उप केंद्र तथा विद्युत संयंत्र विद्युत उपस्कर ,परिणामित्र तेल का स्थल परीक्षण का निदान तथा स्थिति मानीटरन।
•विद्युत प्रणाली अध्ययन ,विद्युत प्रणाली नियंत्रण के वास्तविक काल अनुकार, संरक्षण परीक्षण – जनन केंद्र तथा उपस्कर , ग्रिड नवीकरण के ग्रिड एकीकरण – पवन तथा सौर , विद्युत गुणत्ता अध्ययन –हार्मोनिक फिल्टर अभिकल्प ,संरक्षण समन्वय अध्ययन , उपस्कर विन्यास आकलन।
• ताप एवं जल शक्ति संयंत्रोंका शेष  आयु  निर्धारण  एवं नवीयन व आधुनिकीकरण औद्योगिक तथा संयंत्र घटकों की विफलता विश्लेषण, कोयला मिलों तथा शीतलन टावरों का निष्पादन निर्धारण , अति तापक तथा पुंन: तापक ट्यूबों में  स्वस्थाने ऑक्साइड पपडी मापन, ताप शक्ति केंद्र उपकरण का अविनाशी मूल्यांकन,बॉयलरों के जल भित्ती ट्यूबों का संक्षारण मापन ।
•ऊर्जा दक्षता सेवाएँ जैसे , ताप शक्ति केंद्रों का ऊर्जा अंकेक्षण,  ईंधन परीक्षण , ताप शक्ति केंद्रों के लिए संयंत्र इष्टतमीकरण में प्रशिक्षण सेवाएँ ।
• विद्युत प्रणाली स्वचालन / वितरण स्वचालन, स्मार्ट ग्रिड
संस्थान उपयोगिताओं के लिए तृतीय पार्टी निरीक्षण सेवाएँ और विक्रेता आकलन प्रदान करता है। सीपीआरआई भारत सरकार द्वारा शुरू किए गए कार्यक्रमों के लिए भी अपनी सेवाएँ प्रदान कर रहा है।

प्रशिक्षण :

सी पी आर आई तकनीकी कार्यक्रमों के आयोजन के माध्यम से आतंरिक अनुसंधान द्वारा अपनाए ज्ञान के प्रसार में सबसे आगे रहा है । ये प्रशिक्षण माड्यूल विद्युत क्षेत्र उपयोगिताओं की विशिष्ट आवश्यकताओं को व्यापक रूप से पूरा करने के लिए अभिकल्पित है जिससे वैद्युत उपयोगिताओं और उद्योगों से बडी संख्या में कर्मियों को लाभ पहुँचा है ।

विदेशी ग्राहकों के लिए सेवाएँ :
सी पी आर आई नेपाल, भूटान , बांग्लादेश , म्यान्मार, थाईलैण्ड , मलेशिया, इंडोनेशिया, श्रीलंका, कोरिया, जापान, ब्रिटेन आदि जैसे प्रवासी देशों की वैद्युत उपकरण परीक्षण आवश्यकताओं को सम्बोधित करता रहा है । प्रमाणीकरण के अलावा , मध्य पूर्वी , दक्षिण पूर्व और सुदूर पूर्व एशिया और अफ्रीका के देशों द्वारा परामर्श एवं प्रशिक्षण सेवाएँ का उपयोग भी किया जाता है । आज अमरीका, यूरोप , आस्ट्रेलिया,न्यूजीलैण्ड तथा अन्य कई देशों द्वारा सी पी आर आई सेवाओं की मांग की जा रही है ।

केंद्रीय विद्युत अनुसंधान संस्थान
प्रो. सर सी.वी.रामन रोड, सदाशिवनगर डाक घर ,पो बा सं. 8066,
बेंगलूर - 560080, कर्नाटक, भारत
टेलीफोन: +91 80 22072210, 22072213, 22072208; फैक्स: +91 80 23601213
ईमेल: drvarughese[at]cpri[dot]in / kamala[at]cpri[dot]in / ramdas[at]cpri[dot]in
वेबसाइट : www.cpri.in